Boat and stream short-tricks in Hindi | Fast track arithmetic formulae for competitive examination.

SPREAD TO HELP OTHERS

BOAT AND STREAM (नाव एवं धारा)

Boat and stream short-tricks in Hindi | Fast track arithmetic formulae for competitive examination.
1). यदि शांत जल में नाव या तैराक की चाल x किमी/घंटा व धारा की चाल y किमी/घंटा है, तो धारा के अनुकूल नाव अथवा तैराक की चाल = (x+y) किमी/घंटा
2). धारा के प्रतिकूल नाव अथवा तैराक की चाल = (x-y) किमी /घंटा
3). नाव की चाल = (अनुप्रवाह चाल + उद्धर्वप्रवाह चाल)/2
4). धारा की चाल =  (अनुप्रवाह चाल – उद्धर्वप्रवाह चाल)/2
5). यदि धारा की चाल a किमी/घंटा है, तथा किसी नाव अथवा तैराक को उद्धर्वप्रवाह जाने में अनुप्रवाह जाने के समय का n गुना समय लगता है,(समान दूरी के लिए), तो शांत जल में नाव की चाल = a(n+1)/(n-1) किमी/घंटा
6). शांत जल में किसी नाव की चाल x किमी/घंटा व धारा की चाल y किमी/घंटा है, यदि नाव द्वारा एक स्थान से दूसरे स्थान तक आने व जाने में T समय लगता है, तो दोनो स्थानों के बीच की दूरी = T(x^2 – y^2)/2x km
7). कोई नाव अनुप्रवाह में कोई दूरी a घंटे में तय करती है, तथा वापस आने में b घंटे लेती है, यदि नाव कि चाल c किमी/घंटा है, तो शांत जल में नाव की चाल = c(a+b)/(b-a) km/h
8). यदि शांत जल में नाव की चाल a किमी/घंटा है, तथा वह b किमी/घंटा की चाल से बहती हुई नदी में गति करती है, तो एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने व वापस आने के दौरान उसकी औसत चाल = (a^2 – b^2)/a km/h
9). शांत जल में किसी नाव की चाल a किमी/घंटा है, तथा b किमी/घंटा की चाल से नदी बह रही है। यदि नाव द्वारा किसी निश्चित दूरी को उद्धर्वप्रवाह में तय करने में लगा समय उसी दूरी को अनुप्रवाह में तय करने में लगे समय से T अधिक है, तो दूरी = (a^2 – b^2)T/2b km
10). यदि शांत जल नाव की चाल x किमी/घंटा तथा धारा की चाल y किमी/घंटा है, तो किसी दो निश्चित स्थानों के बीच की दूरी d पर आने व जाने में लगा समय =d/(x+y) + d/(x-y) घंटे
11). यदि कोई व्यक्ति D किमी की दूरी को नदी के दिशा में t1 घंटे में तय करता है, उसी दूरी को नदी के विरोध में t2 घंटे में तय करता है, तब व्यक्ति की चाल = (Dt1+Dt2)/2t1t2. Km/h
तथा धारा की चाल =  (Dt1-Dt2)/2t1t2. Km/h
नीचे दिए गए वीडियो में आप नाव एवं धारा से संबंधित कॉन्सेप्ट के समझ सकते है।
SPREAD TO HELP OTHERS

Suchit prajapati

A person who explores the whole universe just by sitting in his room.

Leave a Reply